Cache Memory क्या है? कैश मेमोरी के प्रकार

Cache memory kya hai?

Cache Memory का नाम तो आपने कभी ना कभी सुना ही होगा यह हमारे कंप्यूटर और स्मार्टफोन में लगा हुआ होता है। इस लेख में आप यह जानेंगे कि Cache Memory क्या है और इसका काम क्या होता है|

Cache Memory क्या है

Cache Memory कंप्यूटर की सबसे फास्ट मेमोरी होती है यह फास्ट इसलिए होती है क्योंकि यह प्रोसेसर के सबसे करीब होती है। कंप्यूटर में जो भी काम बार-बार होते हैं या ज्यादा बार किए जाते हैं प्रोसेसर उनके फाइल्स और डाटा को Cache Memory में सेव कर देता है ताकि अगली बार जब कभी उन फाइल्स की जरूरत पड़े तो वह फाइल और डाटा कैश मेमोरी के जरिए प्रोसेसर तक जल्द से जल्द पहुंच सके|

Cache memory में कंप्यूटर की जरूरी फाइल्स और सेट ऑफ इंटरेक्शंस सेव रहती है। cache memory बहुत फास्ट होने के साथ बहुत छोटी भी होती है इसका एडवांस वर्जन Optane Memory है।

कैश मेमोरी के प्रकार

  1. Level 1 – L1 कैश सबसे तेज होती है यह प्रोसेसर के अंदर लगी होती है। इस मेमोरी की साइज 2kb से लेकर 2mb तक की होती है।
  2. Level 2 – L2 कैश प्रोसेसर के बाहर IC चिप में होती है। इस मेमोरी की साइज 1mb से लेकर 8mb तक की होती है।
  3. Level 3 – L3 कैश एक सेपरेट मेमोरी होती है जो कि रैम से करीब-करीब डबल स्पीड की होती है इस मेमोरी की साइज 1mb से लेकर 32mb तक की होती है।

कैश मेमोरी के फायदे

  • कैश मेमोरी सबसे फास्ट मेमोरी होती है।
  • यह जरूरी फाइल्स और डाटा को सेव करके रखती है।
  • कैश मेमोरी बाकी मेमोरी के मुकाबले बहुत तेजी से फाइल्स को रीड ओर राइट करती है।

कैश मेमोरी के नुकसान

  • कैश मेमोरी साइज में बहुत छोटी होती है।
  • ज्यादा फाइल्स इसमें सेव होने से कंप्यूटर स्लो हो जाता है।
  • कैश मेमोरी बहुत महंगी होती है।

More Similar Posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Fill out this field
Fill out this field
कृपया एक मान्य ईमेल पता दर्ज करें.
You need to agree with the terms to proceed