हाइब्रिड कंप्यूटर क्या है? इसके प्रकार और उपयोग

तकनीक के आधार पर कंप्यूटर 3 प्रकार के होते है – Analog, Digital और Hybrid Computer. इस लेख के माध्यम से आज हम जानेंगे कि Hybrid Computer क्या है? – What is Hybrid Computer?

हाइब्रिड कंप्यूटर क्या है?

हाइब्रिड कंप्यूटर (Hybrid Computer) ऐसे कंप्यूटर होते हैं जिनमें एनालॉग कंप्यूटर और डिजिटल कंप्यूटर के गुणों का समावेश होता है। इस कंप्यूटर सिस्टम के अंतर्गत डिजिटल मशीन और एनालॉग मशीन दोनों एक साथ काम करते हैं, अर्थात हाइब्रिड कंप्यूटर एनालॉग और डिजिटल कंप्यूटर का संयोजन (combination) हैं।

उदाहरण के लिए – मनुष्य के हृदय की धड़कन (Heartbeat) को ECG मशीन द्वारा मापा जाता है, ECG मशीन एक Hybrid कंप्यूटर है जिसके अंतर्गत दिल की धड़कन गिनने का काम एनालॉग कंप्यूटर करता है तथा प्राप्त जानकारी को रिपोर्ट बनाकर प्रिंट करने का काम डिजिटल कंप्यूटर करता है।

हाइब्रिड कंप्यूटर आमतौर पर बहुत बड़े और बहुत महंगे होते हैं। इस प्रकार के कंप्यूटर को घर के कामों के लिए नहीं बनाया गया है, इनका उपयोग मुख्य रूप से अस्पताल और व्यवसाय में किया जाता है।

हाइब्रिड कंप्यूटर के उदाहरण

हाइब्रिड कंप्यूटर के उदाहरण निम्नलिखित हैं-

  • Ultrasound Machine
  • ECG Machine
  • Petrol Pump Machine
  • CT Scan Machine
  • Automated Teller Machine
  • Electrocardiogram Machine
  • Dialysis machine
  • Ventilator Machine

Hybrid Computer के प्रकार

हाइब्रिड कंप्यूटर के तीन मुख्य प्रकार हैं –

  • Large Electronic Hybrid Computer
  • General Purpose Hybrid Computer
  • Special Purpose Hybrid Computer

Hybrid Computer की विशेषताएं

  • यह Digital Signal और Analog Signal दोनों का प्रयोग करते हैं।
  • यह आकार में Analog और Digital Computer से बड़े होते हैं।
  • यह Continuous और Discontinuous डाटा के साथ काम करते हैं।

Hybrid Computer के उपयोग

हाईब्रिड कम्प्यूटर का प्रयोग निम्नलिखित क्षेत्रों में किया जाता है-

  • Hospital – अस्पताल में हाईब्रिड कंप्यूटर से मरीज का इलाज किया जाता है।
  • Fuel Station – पेट्रोल पंप में जिस मशीन का प्रयोग किया जाता है वह हाईब्रिड कंप्यूटर है।
  • Manufacturing – बड़ी औद्योगिक कंपनियों में हाईब्रिड कम्प्यूटरों की सहायता से मापन तथा गणना का कार्य किया जाता है।

Analog vs Digital vs Hybrid

एनालॉग कंप्यूटर, डिजिटल कंप्यूटर और हाइब्रिड कंप्यूटर में अंतर –

Analog Computer

  1. एनालॉग कंप्यूटर भौतिक मात्राओं (physical quantities) को मापने का कार्य करते हैं।
  2. एनालॉग कंप्यूटर में डाटा स्टोर करने की क्षमता बहुत कम होती है।
  3. यह धीमी गति से कार्य करते हैं।
  4. यह एनालॉग सिग्नल का प्रयोग करते हैं।
  5. उदाहरण – Thermometer, Analog Clock

Digital Computer

  1. डिजिटल कंप्यूटर गणितीय एवं तार्किक समस्याओं को हल करने का कार्य करता हैं।
  2. डिजिटल कंप्यूटर में डाटा स्टोर करने की क्षमता बहुत अधिक होती है।
  3. यह तेज गति से कार्य करते हैं।
  4. यह डिजिटल सिग्नल का प्रयोग करते हैं।
  5. उदाहरण – Laptop, Smartphone

Hybrid Computer

  1. हाइब्रिड कंप्यूटर एनालॉग और डिजिटल कंप्यूटर का संयोजन (Combination) हैं।
  2. बाहरी डेटा को हाइब्रिड कंप्यूटर में स्टोर नहीं किया जा सकता है।
  3. यह भी तेज गति से कार्य करते हैं।
  4. यह एनालॉग सिग्नल और डिजिटल सिग्नल दोनों का प्रयोग करते हैं।
  5. उदाहरण – ECG Machine, Petrol Pump Machine

Hybrid Computer के फायदे

हाईब्रिड कम्प्यूटर बहुत शक्तिशाली होते हैं, ये बहुत तेजी से काम करते हैं, अस्पतालों में इस कम्प्यूटर से मरीज की समस्याओं का तुरंत पता चल जाता है।

Hybrid Computer के नुकसान

यह कंप्यूटर घर और ऑफिस के काम के लिए नहीं बना है, इसे किसी एक खास काम को करने के लिए बनाया गया है।

FAQ

हाइब्रिड कंप्यूटर किनका कंबीनेशन है?

हाइब्रिड कंप्यूटर Analog Computer और Digital Computer का कंबीनेशन है।

हाइब्रिड कंप्यूटर का उपयोग कहां होता है?

हाइब्रिड कंप्यूटर का प्रयोग Hospital, Petrol Pump इत्यादि में होता है।

हाइब्रिड कंप्यूटर कितने प्रकार के होते है?

हाइब्रिड कंप्यूटर तीन प्रकार के होते है – Large Electronic, General Purpose और Special Purpose Hybrid Computer.

निवेदन – उम्मीद है कि आपको यह लेख ( एनालॉग कंप्यूटर क्या है? – what is Analog computer in hindi) जरूर पसंद आया होगा।

अगर यह Article आपके लिए उपयोगी रहा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें और आपके जो भी सवाल हों उन्हें नीचे कमेंट करके बताएं।

Leave a Comment