SSD क्या है, SSD Full Form

SSD kya hai

SSD का पूरा नाम Solid State Drive है। SSD, HARD DISK के मुकाबले कई गुना तेज काम करती है और इसके कई अन्य फायदे भी हैं तो आज के इस लेख में आप जानेंगे कि SSD क्या होता है और इसका उपयोग कहां किया जाता है।

SSD क्या है

SSD एक स्टोरेज डिवाइस है जिसका उपयोग हम कंप्यूटर और लैपटॉप में करते हैं। यह हार्ड डिस्क की तरह ही काम करती है लेकिन हार्ड डिस्क से काफी तेज काम करती है SSD को पेन ड्राइव और माइक्रो एसडी कार्ड का एडवांस वर्जन कहां जा सकता है SSD के अंदर Chips होती है।

इसमें हार्ड डिस्क की तरह मोमेंट करने वाला कंपोनेंट नहीं होता। इसलिए यह एक नॉर्मल हार्डडिस्क के मुकाबले SSD की रीड और राइट करने की स्पीड कई गुना ज्यादा तेज होती है। आमतौर पर SSD की Data Read करने की स्पीड 550mb/s और Data Write करने की स्पीड 520mb/s होती है। SSD के भी प्रकार होते हैं और हर ssd की अपनी एक खासियत हैं।

SSD के प्रकार

NVMe 3rd & 4th generation तथा SSD बेस्ड एक्सटर्नल स्टोरेज डिवाइस भी इसके प्रकारो में से है। परन्तु SSD (Solid State drive) के मुख्यतः तीन प्रकार है Sata SSD, M.2 SSD, Nvme SSD.

1. SATA SSD

इस SSD का पूरा नाम Serial Advanced Technology Attachment Solid State Drive हैं और यह Sata Lane की मदद से डाटा ट्रांसफर करती है तथा AHCI (Advance host controller interface) Protocol का उपयोग करती हैं। इसे कंप्यूटर में इंटरनल हार्ड डिस्क की तरह IDE या SATA कनेक्शन की सहायता से जोड़ा जाता है। इसे sata 3 ssd और sata 2.5 भी कहते हैं और सामान्य स्पीड 500 mb/s होती है।

2. M.2 SSD

M.2 SSD sata lane की मदद से डाटा ट्रांसफर करती है और AHCI protocol का उपयोग करती है। इसे मदरबोर्ड के M.2 स्लॉट में लगाया जाता हैं साथ ही यह आकार में छोटी और पतली होती है और sata ssd से तेज काम करती है।

  • यह sata lane की मदद से डाटा ट्रांसफर करती है।
  • इसकी अधिकतम स्पीड 600 mb/s हैं।
  • यह M.2 स्लॉट को सपोर्ट करती है।
  • इसमें AHCI protocol का उपयोग होता है।

3. M.2 MVMe SSD

इस SSD का पूरा नाम Non Volatile Memory Express Solid State Drive हैं। यह PCI express lane की मदद से डाटा ट्रांसफर करती हैं और Nvme protocol का उपयोग करती है। Sata ssd और m.2 ssd के मुकाबले इस एसएसडी की स्पीड सबसे ज्यादा तेज होती हैं। इसे मदरबोर्ड के m.2 Nvme स्लॉट में लगाया जाता हैं।

  • यह PCI express lane की मदद से डाटा ट्रांसफर करती हैं।
  • इसकी अधिकतम स्पीड 4 Gb/s हैं।
  • यह Nvme स्लॉट को सपोर्ट करती है।
  • यह Nvme protocol का उपयोग करती है।

SSD और HDD में अंतर

SSD और HDD दोनों ही कंप्यूटर सिस्टम के स्टोरेज डिवाइस हैं। आज इस लेख के माध्यम से हम जानेंगे कि SSD और HDD में क्या अंतर है और कौन सा बेहतर है।

SSDHDD
आकार में छोटा और पतलाआकार में बड़ा और मोटा
तेज गति से कार्य करने में सक्षमssd के मुकाबले धीमी गति से कार्य करता है
डाटा रिकवरी करने में आसानडाटा रिकवरी करना बहुत मुश्किल है
एनर्जी सेविंगबहुत ज्यादा एनर्जी की जरूरत पड़ती है
इसका पूरा नाम solid State drive हैंइसका पूरा नाम Hard disk drive हैं
अधिकतम कार्य क्षमता 4Gb/sअधिकतम कार्य क्षमता 250mb/s
इंस्टाल करने में आसानइंस्टॉल करना थोड़ा मुश्किल है
इसके अंदर ट्रांजिस्टर और कैपेसिटर मौजूद होते हैंइसके अंदर सर्कुलर प्लेट होती है

SSD के फायदे

  • SSD की स्पीड नॉरमल हार्ड ड्राइव से कई गुना तेज होती है।
  • SSD की लाइफ बहुत ज्यादा लंबी होती है।
  • SSD का Data हार्ड ड्राइव के मुकाबले आसानी से रिकवर हो जाता है।
  • SSD लो पावर में हाई परफॉर्मेंस देती है। यानी एसएसडी पावर एफिशिएंट होती है।
  • SSD पढ़ने और लिखने के कार्यों में तेज होते हैं।
  • यह hard disk से बहुत छोटी होती है। इसे आसानी से कहीं भी लेजाया जा सकता हैं।
  • इसे इंस्टॉल करना आसान हैं।

SSD के disadvantages

  • हार्ड डिस्क के मुकाबले SSD की कीमत बहुत ज्यादा होती है।
  • 1Tb हार्ड ड्राइव की कीमत में 256Gb SSD आती है

SSD बनाने वाली दमदार कंपनियां

  • CRUCIAL
  • SAMSUNG
  • ADATA
  • KINGSTON
  • WD
  • GALAX
  • GIGABYTE
  • BARRACUDA
  • HIKVISION
  • SILICON POWER

Best SSD available in India

  • Samsung 980
  • Crucial BX500
  • Kingston Q500
  • WD SN550
  • Samsung 870 QVO
  • Samsung 970 EVO plus
  • Aadat falcon
  • Aadat XPG S11 pro
  • Aadat XPG S40G
  • WD blue

कुछ महत्वपूर्ण बातें

अगर आपके पास एक अच्छा कंप्यूटर या लैपटॉप है तो आप SSD का उपयोग जरूर करें, क्योंकि एसएसडी बहुत तेजी से काम करती है। यह आपके सिस्टम को हमेशा तेज रखती है। हार्ड डिस्क के मुकाबले यह काफी तेज होती है। और आकार में भी छोटी होती है। एसएसडी, सिस्टम को जल्दी चालू करने में मदद करती है यानी कि तेजी से बूट कराती है, इसके और भी कई सारे फायदे हैं।

  • आपके कंप्यूटर या लैपटॉप में हार्ड ड्राइव है तो आप SSD लगवा कर अपने कंप्यूटर और लैपटॉप की स्पीड को बढ़ा सकते हैं।
  • Windows के फाइल्स और विंडोज के सॉफ्टवेयर को हमेशा SSD में रखें
  • SATA SSD के मुकाबले M.2 SSD ज्यादा फास्ट होती है
  • एक नॉर्मल हार्ड ड्राइव से 3 गुना ज्यादा महंगी एक एसएसडी होती है

More Similar Posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Fill out this field
Fill out this field
कृपया एक मान्य ईमेल पता दर्ज करें.
You need to agree with the terms to proceed