सॉफ्टवेयर क्या है ? सॉफ्टवेयर के प्रकार

सॉफ्टवेयर क्या है ? सॉफ्टवेयर के प्रकार

सॉफ्टवेयर क्या है : किसी भी कंप्यूटर को चलाने के लिए सॉफ्टवेयर की आवश्यकता होती है। बिना सॉफ्टवेयर के कंप्यूटर में लगाए गए हार्डवेयर अंगों का कोई अस्तित्व नहीं है क्योंकि एक कंप्यूटर को चलाने के लिए हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दोनों की जरूरत पड़ती है। इस लेख के माध्यम से आप यह जानेंगे कि सॉफ्टवेयर क्या है और यह कितने प्रकार के होते हैं

सॉफ्टवेयर क्या है परिभाषा

सॉफ्टवेयर प्रोग्राम और निर्देशों का समूह है जो एक करंट की तरह तार के अंदर बहता है। यह हार्डवेयर के विपरीत है। सॉफ्टवेयर को ना तो आंखों से देखा जा सकता है और ना ही हाथों से छुआ जा सकता है। इसे केवल पढ़ा जा सकता है और काम के हिसाब से उपयोग में लाया जा सकता है। इस परिभाषा से आप जान ही गए होंगे की सॉफ्टवेयर क्या है ?

उदाहरण- कंप्यूटर और स्मार्टफोन में उपयोग किए जाने वाले सारे सॉफ्टवेयर और एप्लीकेशन जैसे कि Google, YouTube, operating system, Camera, chrome, etc.

सॉफ्टवेयर के प्रकार

सॉफ्टवेयर दो प्रकार के होते हैं।

  1. System Software.
  2. Application Software.

System Software

सिस्टम सॉफ्टवेयर ऐसे सॉफ्टवेयर होते हैं जो किसी भी कंप्यूटर या डिवाइस में Predefine होते हैं। यानी कि पहले से डिफाइन होते हैं। सिस्टम सॉफ्टवेयर को मास्टर सॉफ्टवेयर भी कहा जाता है।

सिस्टम सॉफ्टवेयर के Sub Categories

  1. Operating system.
  2. Utility software.
  3. Device drivers.

उदाहरण – Windows, Docs, Linux, Android, iOS, etc.

Application Software

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर वे सॉफ्टवेयर होते हैं जो किसी स्पेशल, पर्टिकुलर वर्क या टास्क को परफॉर्म करने के लिए बने होते हैं।

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के Sub Categories

  • General-purpose software.
  • Custom software.

उदाहरण – WhatsApp, Facebook, Instagram, Google, chrome, browser, photoshop, camera, after effects, etc.

सॉफ्टवेयर कैसे बनाया जाता है

सॉफ्टवेयर प्रोग्राम और सॉफ्टवेयर डेवलपर के द्वारा बनाया जाता है इसे बनाने के लिए सॉफ्टवेयर इंजीनियर यानी कि कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई करनी पड़ती है। लेकिन आप घर बैठे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीख कर भी सॉफ्टवेयर बना सकते हैं।

सॉफ्टवेयर बनाने के लिए प्रोग्रामिंग लैंग्वेज

Python.
C language.
C++.
Java.
Java script.
Scala.
Php.
SQL.

सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बने

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपको कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई करनी पड़ेगी इसके लिए आपको 12वीं की कक्षा में मैथ्स (Maths) स्ट्रीम से पास होना होगा।12वीं कक्षा पास होने के बाद आप इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन ले कर सॉफ्टवेयर या कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई कर सकते हैं।

More Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Fill out this field
Fill out this field
Please enter a valid email address.
You need to agree with the terms to proceed

Menu