नेटवर्क क्या है ? और कितने प्रकार के होते हैं

नेटवर्क क्या है ? और नेटवर्क प्रकार के होते हैं

नेटवर्क क्या है – दो या दो से अधिक devices अगर एक दूसरे से जुड़े हुए हो तो वह नेटवर्क कहलाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि ये जो devices एक दूसरे से कनेक्ट हुए होते है वो नेटवर्क के थ्रू कनेक्ट होते हैं। उदाहरण – Computer, Laptop, Printer, smartphone, scanner.

Network के प्रकार

इंटरनेट चलाने की बात हो या devices या कम्प्यूटर्स को आपस में जोड़ना हो सभी नेटवर्क के कारण ही संभव हो पाता है। इस लेख में हमने नेटवर्क के मुख्य पांच प्रकारो के बारे में संक्षेप और आसान शब्दों में जानकारी देने का प्रयास किया है। ताकि आप आसानी से नेटवर्क के प्रकारो को समझ सके।

1. Local Area Network (LAN)

LAN सबसे ज्यादा प्रचिलित नेटवर्क प्रकार है। और इसका प्रयोग कम्प्यूटर्स के समूहों और इससे सम्बंधित उपकरणों को आपस में जोड़ने के लिए किया जाता है। आमतौर पर LAN नेटवर्क का उपयोग घर, स्कूल और ऑफिस में किया जाता हैं। इस नेटवर्क का रेंज बहुत कम होता है। इसका नेटवर्क रेंज 10m to 1000m तक सिमित होता है। जैसे Wifi, Ethernet आदि।

2. Metropolitan Area Network (MAN)

इस नेटवर्क का प्रयोग दो या दो से अधिक बिल्डिंग के devices को नेटवर्क से जोड़ने के लिए किया जाता है। या दूसरे शब्दों में कहा जाए तो इसे शहर के अंदर नेटवर्क में प्रयोग किया जाता है। इस नेटवर्क का रेंज LAN नेटवर्क से ज्यादा होता है। और इसके कवरेज की बात करे तो यह 5km to 50km तक हो सकता है। उदाहरण – Cable TV, Telephone Network.

3. Wide Area Network (WAN)

यह नेटवर्क विशाल होता है। इसका सबसे अच्छा उदाहरण है इंटनेट जिसमे दुनियाभर के सभी कंप्यूटर और इंटनेट से चलने वाले उपकरण आपस में जुड़े होते है। WAN नेटवर्क का उपयोग शहर, देश तथा दुनिया को जोड़ने के लिए किया जाता है। WAN नेटवर्क रेंज 1000000Km तक भी हो सकता है। उदाहरण – Internet.

4. Campus Area Network (CAN)

CAN नेटवर्क को आप इसके नाम से ही जान सकते है। कॉलेज, इंस्टिट्यूट और व्यवसाय के लिए कुछ बिल्डिंग्स के कम्प्यूटर्स को नेटवर्क में जोड़ना ही CAN नेटवर्क कहलाता है। इसका नेटवर्क कवरेज 1km से 5km तक रहता है। उदाहरण – Broadband.

5. Personal Area Network (PAN)

PAN नेटवर्क का उपयोग घरो और दफ्तरों में एक या दो कंप्यूटर को जोड़ने तथा स्मार्टफोन, प्रिंटर और लैपटॉप को एक दूसरे से जुड़ने के लिए किया जाता है। इसमें वायरलेस माध्यम का ज्यादा प्रयोग होता है जैसे Bluetooth, Hotspot आदि। PAN नेटवर्क का कवरेज एरिया 1m से 10m तक होता है।

Networking के फायदे

  • File sharing – नेटवर्क की मदद से आसानी से किसी भी प्रकार का फाइल शेयर किया जा सकता है।
  • Internet Sharing – इंटरनेट को एक और एक से अधिक डिवाइसेज में शेयर किया जा सकता है।
  • Resource Sharing – Printer, Scanner जैसे डिवाइस को एप्लीकेशन के मदद से कंट्रोल किया जा सकता है।
  • Increase Storage Capicity – एक और एक से ज्यादा कंप्यूटर में आसानी से डाटा ट्रांसफर करके सेव किया जा सकता है।

More Similar Posts

2 Comments. Leave new

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Fill out this field
Fill out this field
Please enter a valid email address.
You need to agree with the terms to proceed

Menu