ISP क्या है और इसकी भूमिका क्या है?

ISP kya hai

ISP क्या है? (What is ISP in hindi) – ISP का पूरा नाम Internet Service Provider है, जिसका हिंदी अनुवाद इंटरनेट सेवा प्रदाता अथवा अन्तर्जाल सेवा प्रदाता हैं। यह एक ऐसी संस्था होती है जो इंटरनेट यूजर और उपयोगकर्ताओं को इंटरनेट सेवा की सुविधा प्रदान कराती है, यानि इंटरनेट की सेवा प्रदान कराने वाली कंपनियों को ही ISP कहां जाता हैं।

सरल शब्दों में – यदि आपको कभी भी अपने घर या ऑफिस के लिए इंटरनेट की आवश्यकता होती है, तो आप जिस कंपनी से इंटरनेट कनेक्शन लेते हैं, उस कंपनी को इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर कहते हैं। भले ही आपके पास कंप्यूटर या लैपटॉप हो, LAN नेटवर्किंग के लिए एक राउटर हो, फिर भी आप ISP के कनेक्शन के बिना इन उपकरणों में इंटरनेट का उपयोग नहीं कर सकते।

ISP का काम क्या है?

ISP यानी कि इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर उन सभी जगहों पर इंटरनेट की सेवा उपलब्ध कराती है जिन जगहों पर इंटरनेट की जरूरत होती है। घर, कॉलेज, ऑफिस, स्कूल, बिल्डिंग तथा अन्य स्थान जहां पर इंटरनेट की आवश्यकता है, उन स्थानों पर इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर अपनी सर्विस देती हैं।

(ISP) इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर कुछ पैसे लेकर इंटरनेट की सुविधा देते हैं, वे सामान्य तौर पर केबल, ऑप्टिकल फाइबर या Wi-Fi के द्वारा इंटरनेट की सेवा उपलब्ध कराते हैं।

Internet service provider की भूमिका

इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर यूजर को Dial-up और Broadband जैसे सर्विस भी प्रदान करा सकते हैं। Dial-up कनेक्शन को फोन लाइन की आवश्यकता होती है इसलिए वे टेलीफोन लाइन के माध्यम से इन सर्विसेस को उपलब्ध कराते हैं।

Broadband connection ISDN, broadband wireless access, cable modem, DSL, satellite और ethernet के माध्यम से ISP अपनी सर्विस प्रोवाइड कराती हैं। सभी ISP के अपने सर्वर होते हैं और उपयोगकर्ता उन सर्वरों से जुड़े होते हैं।

भारत में इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर कंपनी की संख्या बहुत अधिक है, जैसे – BSNL, Airtel, Jio, Vodafone Idea, Reliance इत्यादि।

ISP कंपनी के प्रकार (types of Internet service provider)

हम जानते हैं कि इंटरनेट पूरी दुनिया में फैला हुआ है, विभिन्न प्रकार की ISP कंपनी इंटरनेट सेवाएं देती है ऐसे में इनमें कुछ बड़ी कंपनि तो कुछ छोटी कंपनि शामिल हैं, इन कंपनियों को देखते हुए ISP को तीन भागों में विभाजित किया गया है Tier-1, Tier-2 और Tier-3

Tier-1 ISP क्या है?

Tier-1 उन कंपनियों को कहा जाता है जिन कंपनियों की ऑप्टिकल फाइबर तार पूरी दुनिया एवं समुद्र में बिछी हुई है, ये कंपनियां सेटेलाइट के माध्यम से भी सुविधा उपलब्ध कराती हैं।

Tier-2 ISP क्या है?

Tier-2 कंपनी Tier-1 कंपनी को कुछ पैसे देकर उनसे इंटरनेट सेवाएं तथा अन्य सर्विस खरीदती है, Tier-2 कंपनी देश के बड़े-बड़े शहरों में अपनी सेवाएं देती है इसके अलावा वे बड़ी कंपनियों में इंटरनेट सेवाएं प्रदान कराती हैं।

Tier-3 ISP क्या है?

यह कंपनी लोकल एरिया तथा शहरों में अपनी सर्विस देती है, Tier-3 कंपनी के माध्यम से ही हम अपने घर एवं ऑफिस में इंटरनेट की सुविधा प्राप्त कर पाते हैं, यह कंपनी Tier-2 कंपनी से इंटरनेट तथा अन्य सर्विस खरीदती हैं।

ISP कनेक्शन के प्रकार (types of ISP connection)

ISP क्या है और कैसे काम करता है यह जान लेने के बाद ये जानना जरूरी है कि ISP कितने प्रकार के कनेक्शन से सर्विस उपलब्ध कराती है, इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर कंपनी कई तरह से अपनी सर्विस देती है-

  • Optical fiber cable – ISP द्वारा उपयोगकर्ताओं को इंटरनेट की सुविधा देने के लिए ऑप्टिकल फाइबर केबल को सबसे अच्छा तरीका माना जाता है क्योंकि इस केबल के माध्यम से फास्ट इंटरनेट की सुविधा प्राप्त कराई जाती है, एक आम केबल के मुकाबले फाइबर ऑप्टिकल केबल में डाटा लाइट के माध्यम से ट्रैवल करता है।
  • Telephone line – इंटरनेट कनेक्शन का यह तरीका बहुत पुराना हो चुका है इसमें टेलीफोन लाइन के माध्यम से इंटरनेट की सेवा उपलब्ध कराई जाती है, टेलीफोन लाइन केबल में इंटरनेट की स्पीड काफी कम होती है इसलिए ज्यादातर लोग इसका इस्तेमाल नहीं करते हैं।
  • Wireless (Radio frequency) – एक पॉपुलर ISP कंपनी वायरलेस नेटवर्किंग की सुविधा प्रदान कराती है, जिन जगहों पर इंटरनेट केबल पहुंच नहीं पाता उन जगहों पर वायरलेस के माध्यम से इंटरनेट की सेवाएं उपलब्ध कराई जाती है, वायरलेस नेटवर्क के लिए रेडियो फ्रिकवेंसी मशीन का उपयोग किया जाता हैं।
  • Satellite connection – सेटेलाइट के माध्यम से भी इंटरनेट सेवाएं दी जाती है, बड़ी कंपनियां सेटेलाइट कनेक्शन की सुविधा देती है, इस कनेक्शन की कीमत बहुत ज्यादा होती है, बहुत सारी बड़ी-बड़ी कंपनियां अपने बड़े कामों के लिए सेटेलाइट कनेक्शन खरीदती है।

ISP कंपनी के नाम (Name of ISP company)

भारत में कुछ जाने-माने इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर कंपनियां है जिनकी सर्विस पूरे देश में फैली हुई है, इन कंपनियों के माध्यम से ही हमारे घर तक केबल या वायरलेस के माध्यम से इंटरनेट पहुंच पाता है इसलिए इन कंपनियों का नाम जानना अति आवश्यक है।

भारत की Tier-1 इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर कंपनी

Jio, Airtel, BSNL, Tata, Reliance, इत्यादि। इसके अलावा Tier-2 और Tier-3 के अंतर्गत कई सारी इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर कंपनियां आती है जोकि Tier-1 कंपनी से सर्विस खरीद कर उपयोगकर्ताओं को सर्विस देती है।

ISP की विशेषताएं (Features of ISP)

इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर की काफी सारी विशेषताएं है जैसे कि वे फास्ट इंटरनेट, अच्छी सर्विस एवं कम बजट वाले प्लान उपलब्ध कराते हैं-

  • Fast Internet – एक आम नेटवर्क के मुकाबले इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर कंपनी के द्वारा ली गई नेटवर्क काफी तेज होती है, इस नेटवर्क के माध्यम से किसी भी फाइल या डाटा को पहुंच तेजी से डाउनलोड किया जा सकता है।
  • Fast Service – इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर के द्वारा अच्छी कॉलिंग सर्विस प्रोवाइड कराई जाती है ताकि किसी भी तरह की प्रॉब्लम आने पर उस प्रॉब्लम को जल्द से जल्द ठीक कर दिया जाए।
  • Internet plan – आम उपयोगकर्ता आसानी से कम बजट वाले इंटरनेट प्लान का उपयोग कर सकता है, जिस प्रकार मोबाइल के इंटरनेट प्लांस आते हैं उसी प्रकार इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर के भी अपने प्लैन होते हैं जिनमें आम उपयोगकर्ता के लिए एक कम बजट वाला प्लान होता है और ज्यादा तेज इंटरनेट एवं ज्यादा डाटा उपयोग करने वाले के लिए एक अलग प्लेन होता हैं।

ISP का इतिहास (History of ISP)

दुनिया में इंटरनेट का जन्म होने के बाद तेजी से इंटरनेट यूजर की संख्या बढ़ने लगी और इंटरनेट का जोरों शोरों से उपयोग होने लगा, तब उपयोगकर्ता और बड़ी-बड़ी कंपनियों को एक फास्ट इंटरनेट की जरूरत पड़ने लगी, इस समस्या को देखते हुए सन् 1984 में “The World” नाम की कंपनी ने सबसे पहले अमेरिका में ISP की सेवाएं शुरू की, इसके बाद देखते ही देखते कई सारी कंपनियों ने भी इस सर्विस की शुरुआत की।

भारत देश में 15 अगस्त 1995 में विदेशी कंपनी के द्वारा इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर की सेवाएं शुरू की गई, कुछ सालों बाद भारत में कई सारी कंपनियों ने इसकी शुरुआत की और देखते ही देखते बहुत सारे शहर ISP से जुड़ते गए। आज पूरा देश इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर के नेटवर्क से जुड़ा हुआ है, जिस किसी को भी फास्ट इंटरनेट सर्विस की जरूरत पड़ती है वह ISP के पास चला जाता हैं।

ISP Q&A

ISP का पूरा नाम क्या है?

ISP का पूरा नाम Internet service provider है।

ISP का जन्म कब हुआ था?

इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर का जन्म 1984 में अमेरिका में हुआ था।

भारत की प्रमुख ISP कंपनियों के नाम?

भारत की प्रमुख ISP कंपनियां है- JIO, AIRTEL, BSNL, TATA.

ISP कनेक्शन के प्रकार कौन-कौन से हैं?

इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर कनेक्शन के प्रकार हैं- wireless radio frequency, optical fiber, telephone line, satellite connection.

More Similar Posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Fill out this field
Fill out this field
कृपया एक मान्य ईमेल पता दर्ज करें.
You need to agree with the terms to proceed